Wednesday, February 10, 2010

Irafan Alam

राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात से पहले सम्मान फाउंडेशन के संस्थापक इरफान आलम की अपने ड्रीम प्रोजेक्ट को एनसीआर और दिल्ली के शहरों में उतारने की योजना है। कॉमनवेल्थगेम्स को ध्यान में रखकर फाउंडेशन इन शहरों में तमाम लक्जरी सुविधाओं वाले रिक्शे उतारने का खाका तैयार कर चुका है। फिल्हाल ऐसे रिक्शे देश में सर्वाधिक विदेशी सैलानियों के आने के लिए चर्चित बिहार के बोधगया में दौड़ रहे हैं। ऐसे ही रिक्शे का पटना की सड़कों पर हाल में अमेरिकी राजदूत टीमोथी रोयमर ने लुत्फ उठाया था।
इरफान आलम के रिक्शा क्रांति की धमक देश ही नहीं विदेशों तक पहुंच चुकी है। सम्मान फाउंडेशन के निदेशक के दावे पर यकीन करें तो अभी बिहार, झारखंड, उड़ीसा आदि प्रदेशों की सड़कों पर यात्राियों एवं रिक्शाचालकों की विशेष सुविधाओं वाले तकरीबन साढ़े तीन लाख रिक्शे चल रहे हैं। इस कड़ी में 12 फरवरी को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान जलबलपुर में ऐसे रिक्शों को हरी झंडी दिखाएंगे।
सम्मान फाउंडेशन ने अपना यह खास प्रोजेक्ट पहली दफा 2006 के अंत में गाजियाबाद में शुरू किया था। इसे लेकर उन्होंने एनसीआर के बाकी शहरों में कुछ गतिविधियां भी शुरू की थीं। इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्े बुलावे पर 2007 में फाउंडेशन अपना सारा काम समेट कर पटना चला गया। यहीं से देश के दूसरे हिस्से में इरफान अपने रिक्शा क्रांति को फैला रहे हैं। वह रेक्शा चालक का चयन कर उन्हें पंजाब नेशनल बैंक से फाइनांस करवाते हैं।
अब फाउंडेशन का इरादा दिल्ली और एनसीआर के शहरों में अपनी कामयाबी की गाथा लिखना है। सम्मान के निदेशक कहते हैं इसके लिए नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव, फरीदाबाद, रोहतक और दिल्ली के शहरों में सर्वे और रिक्शा चालकों की पहचान का काम पूरा हो चुका है। उन्हें फाइनांस कराने की संस्था के सहयोगी पीएनबी के रोहतक डीवीजन से वार्ता अंतिम दौर में है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इरफान आलम को उनके रिक्शे के खास इजाद और इसके पीछे के आर्थिक गणित से प्रभावित होकर मुलाकात के लिए उन्हें अमेरिका बुलाया है। मार्च के 26-27 तारीख को उनकी ओबामा से भेंट होनी है। इरफान कहते हैं इससे पहले एनसीआर और दिल्ली के शहरों में सम्म्मान के खास रिक्शे दौड़ने लगेंगे।
-गुड़गांव: 500
-फरीदाबाद: 500
-दिल्ली: 1000
-नोएडा: 500
-गाजियाबाद: 1000
-रोहतक: 300
------
रेक्शे में सुविधा

बोतलबंद पानी

आईस बॉक्स

हिंदी, अंग्रेजी अखबार

मोबाइल रिचार्ज कूपन की सुविधा

फर्सटएड

रिक्शाचाल के लिए सुविधा

एक लाख का दुर्घटना बीमा

पैसेंजर का बीमा

बचत के लिए बैंक खाता

खाने के लिए मेस

रात के ठहरने को बसेरा

-पीएनबी से रिक्शे के लिए फाइनेंस सुविधा

-18 महीने में लोन चुकाने की व्यवस्था



एक नजर इरफान आलम पर

-बिहार के बेगूसराय में जन्मे

-पांडेचेरी से एमबीए

-आईआईएम-ए

-जीटीवी के बिजनस बाजीगर का खिताफ प्राप्त

-1996 में सम्मान फाउडेशन की स्थापना

-नेशनल इनोवेटिव फाउंडेशन अहमदाबाद व निंबकर अग्रीकल्चर रिसर्च इंस्टटयूट महाराष्ट्र के साथ काम



-महताब सिद्दीकी निदेशक सम्मान फाउडेशन: एनसीआर और दिल्ली में रिक्शा क्र ांति मार्च के अंत का अमली रूप ले लेगा। दुनिया की यह पहली संस्था है जो असंगठित रिक्शा चालकों के आर्थिक एवं सामाजिक उत्थान के लिए काम कर रही है।

0 comments:

Bookmark with: