Monday, January 18, 2010

माटी से जुड़ेंगे कर्नाटक के बिहारी

कर्नाटक में बसे बिहारी अब अपनी माटी (बिहार) से जुड़ेंगे। बिहार सरकार ने उन्हें बिहार फाउंडेशन का बेंगलुरु चैप्टर मुहैया करा दिया है। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने रविवार को इस चैप्टर का उद्घाटन किया। उनका दावा रहा कि साहचर्य की भावना विकास को उछाल देगी। उपमुख्यमंत्री कोषांग द्वारा पटना में जारी विज्ञप्ति के अनुसार श्री मोदी ने उद्घाटन के दौरान बिहार व कर्नाटक के बीच ऐतिहासिक संबंधों का व्यापक चर्चा की। उन्होंने इसे और प्रगाढ़ बनाने की बात कही। बोले-बिहार के पास समृद्ध ऐतिहासिक विरासत है और कर्नाटक आधुनिक तकनीकी विकास से परिपूर्ण है। ऐसे में दोनों के पारस्परिक सहयोग से संतुलित विकास के नये युग की शुरूआत हो सकेगी। उन्होंने अपनी सरकार के चार वर्षो के कार्यकलापों की खासी चर्चा की। कहा-पूरी दुनिया ने इसे संज्ञान में लिया है। हमारा विकास दर हमारी मशक्कत का परिणाम है। प्रदेश में कानून का राज स्थापित है। बेंगलुरु चैप्टर के अध्यक्ष अमर कुमार पांडेय ने कहा कि चैप्टर दोनों प्रदेशों के बीच सांस्कृतिक, आर्थिक व तकनीकी सहयोग के नये अध्याय की शुरूआत करेगा। तमाम प्रवासी बिहारी इस संस्था के माध्यम से बिहार के विकास को तत्पर होंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के परामर्शी (निवेश) एस.विजय राघवन, विकास आयुक्त नवीन कुमार, फाउंडेशन के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी विवेक कुमार सिंह आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने कृषि आधारित उद्योग, शिक्षा, विद्युत, पर्यटन, समाज कल्याण, आईटी आदि क्षेत्रों में सहयोग की अपील की।

0 comments:

Bookmark with: